Skip to main content

Posts

रसोईघर के लिए वास्तु टिप्स। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

रसोई घर के लिए वास्तु टिप्स:-  रसोई घर कभी भी बाथरूम या शौचालय के नीचे नहीं होना चाहिए और ना ही बाथरूम या शौचालय के साथ लगकर होना चाहिए। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

नकारात्मक शक्तियों से बच्चों की सुरक्षा हेतु उपाय। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।

नकारात्मक शक्तियों से बच्चों की  सुरक्षा हेतु:- रात में सोते समय अपने बच्चे के तकिए के नीचे समुद्री नमक सेंधा नमक की एक छोटी सी पोटली रख दे ताकि वह बुरी नजर और रात के समय चारों ओर घूमने वाली नकारात्मक शक्तियों से बच सके। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी 

दशम भाव में शनि ग्रह का लाल किताब का उपाय। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।

दशम भाव में शनि ग्रह का लाल किताब का उपाय:- ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी। १:- मांस शराब का बिल्कुल सेवन ना करें २:- अहिंसा का पालन करें ३:- घर एवं छत साफ रखें तथा अनावश्यक सामान न रखें।

शनि ग्रह के बारे में वैदिक ज्योतिषीय संपूर्ण जानकारी। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।

शनि ग्रह के बारे में वैदिक ज्योतिषीय संपूर्ण जानकारी :- ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।                  ‌     शनि ग्रह  शारीरिक अंग:-  दांत,हड्डीयां, पसली,नाखून त्वचा,घुटने, तलवें। विचार :- आयु,विपत्ति,अड़चनें,सेवक, जीवन, मृत्यु का कारण,उद्योग, उदासीनता, बिछड़ना। रोग एवं विकार :- पैरों व घुटनों में दर्द, चर्म रोग, दंत विकार, कुछ बहरापन,श्वांस का रोग। संबंध :-  सेवक। वस्तू :-  तेल, लकड़ी, राई, व काले रंग के धातु।  वर्ण:- कृष्ण।  दिशा:-  पश्चिम।  गति :- ढाई साल में 30 अंश (एक राशि)।  दृष्टि:-  तीसरे, सातवें एवं दशम स्थान पर।  जाति :-  शूद्र।  लिंग:-  नपुंसक।  राशिपती :- मकर,कुंभ।  रत्न:-  नीलम।  मित्र  :- बुध, शुक्र, राहु।  शत्रु :- सूर्य चंद्रमा मंगल केतु।  सम:-  बृहस्पति।

हस्तलिखित जन्मपत्रिका बनाते हुए।ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

हस्तलिखित जन्मपत्रिका बनाते हुए। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

सीढ़ी के नीचे स्नानघर, रसोई या पूजा घर कभी नहीं बनाया जाना चाहिए।ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।

सीढ़ी के नीचे स्नानघर, रसोई या पूजा घर कभी नहीं बनाया जाना चाहिए। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी।

हस्तलिखित जन्मपत्रिका बनाते हुए।ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

हस्तलिखित जन्मपत्रिका बनाते हुए। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

वास्तु दोष निवारण के उपाय। ज्योतिषाचार्य चंदन धर द्विवेदी

वास्तु दोष निवारण के उपाय १- घर  में अखंड रूप से श्री रामचरितमानस के 9 पाठ करने से वास्तु जनित दोष दूर हो जाता है। २- घर में 9 दिन तक अखंड भगवान नाम कीर्तन करने से वास्तु दोष का निवारण हो जाता है।

बालकनी का वास्तु । ज्योतिषाचार्य चन्दन धर द्विवेदी

बालकनी का वास्तु :-  बालकनी और बरामदा बनाने के लिए घर के उत्तर और पूर्व दिशा में बनवाना चाहिए।। ज्योतिषाचार्य चन्दन धर द्विवेदी